This is default featured slide 1 title

Go to Blogger edit html and find these sentences.Now replace these sentences with your own descriptions.

This is default featured slide 2 title

Go to Blogger edit html and find these sentences.Now replace these sentences with your own descriptions.

This is default featured slide 3 title

Go to Blogger edit html and find these sentences.Now replace these sentences with your own descriptions.

This is default featured slide 4 title

Go to Blogger edit html and find these sentences.Now replace these sentences with your own descriptions.

This is default featured slide 5 title

Go to Blogger edit html and find these sentences.Now replace these sentences with your own descriptions.

Saturday, July 6, 2019

नीतीश ने आम बजट को सराहा, रेलवे के पीपीपी की ओर झुकाव पर जताई चिंता


मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आम बजट 2019-20 को स्वागत योग्य बताते हुए कहा कि भारत की अर्थव्यवस्था को 5 ट्रिलियन डॉलर तक पहुंचाने का लक्ष्य प्रशंसनीय है। हालांकि उन्होंने रेलवे में पीपीपी (जन निजी भागीदारी) की ओर झुकाव पर चिंता जरूर जताई है। 
मुख्यमंत्री ने अपनी बजट प्रतिक्रिया में कहा कि इलेक्ट्रिक वाहनों को प्रोत्साहित करने का निर्णय पर्यावरण के हित में है। स्वच्छ भारत मिशन का विस्तारीकरण करते हुए गांव में ठोस कचरा प्रबंधन लागू करने की व्यवस्था सराहनीय है। जल संरक्षण का दृष्टिकोण स्वागत योग्य और प्रशंसनीय है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि रेलवे की योजनाओं को पूर्ण करने के लिए जन-निजी-भागीदारी के तहत राशि उगाही की बात कही गई है। केंद्र की सरकार को ध्यान देना चाहिए कि इससे यह संदेश नहीं जाए कि रेलवे का निजीकरण किया जाएगा।
मुख्यमंत्री ने आम बजट में पूरे देश के लिए लाई गई हर घर जल योजना का स्वागत किया है। उन्होंने कहा कि यह प्रसन्नता की बात है कि बिहार में पूर्व से ही 7 निश्चय के अन्तर्गत हर घर नल का जल योजना का क्रियान्वयन किया जा रहा है।

स्कूलों में एक लाख शिक्षकों की होगी भर्ती, 9 दिसंबर से मिलेगा नियुक्ति पत्र



पटना. 71 हजार स्कूलों में एक लाख से अधिक प्रारंभिक शिक्षकों की बहाली के लिए तारीख तय कर दी गई है। पंचायत व प्रखंड सहित विभिन्न प्रारंभिक नियोजन इकाइयों के माध्यम से बहाली की प्रकिया 25 जुलाई से शुरू होगी। बीएड-डीएलएड के साथ टीईटी उत्तीर्ण अभ्यर्थियों से आवेदन 26 अगस्त से 25 सितंबर तक लिया जाएगा। चयनित अभ्यर्थियों को नियुक्ति पत्र 9 से 13 दिसंबर तक मिलेगा। लगभग ढाई साल बाद प्रारंभिक स्कूलों में शिक्षकों की नियुक्ति की प्रक्रिया शुरू हो रही है। 

शिक्षा विभाग ने  शुक्रवार को नियोजन का शिड्यूल जारी कर दिया। नियोजन में 2012 और 2017 में टीईटी उत्तीर्ण 1,11,484 अभ्यर्थियों को मौका मिलेगा। शिक्षा विभाग ने 2012 में टीईटी उत्तीर्ण 65,984 अभ्यर्थियों की वैद्यता 14 मई 2021 तक बढ़ा दी है। नियोजन के लिए शिक्षकाें के पदों की गणना प्राथमिक कक्षाओं वर्ग एक से पांच और उच्च प्राथमिक कक्षाअाें में 6 से 8 तक के लिए होगी। समान काम समान वेतन मामले पर सु्प्रीम कोर्ट का फैसला सरकार के पक्ष में आने के बाद शिक्षकों के नियोजन की प्रक्रिया शुरू की गई है। प्रारंभिक स्कूलों के लिए पंचायत शिक्षक, प्रखंड शिक्षक, नगर पंचायत, नगर परिषद व नगर निगम शिक्षक की बहाली होती है।
मेधा सूची का अंतिम प्रकाशन 29 नवंबर को होगा
 20 अगस्त : बहाली का विज्ञापन आएगा।
26 अगस्त से 25 सितंबर तक आवेदन दे सकेंगे।
11 अक्टूबर तक मेधा सूची तैयार की जाएगी। 
17 अक्टूबर: सूची को नियोजन समिति की मंजूरी। 
21 अक्टूबर काे मेधा सूची का प्रकाशन। 
22 अक्टूबर से 5 नवंबर तक सूची पर आपत्ति दे सकेंगे। 11 नवंबर काे आपत्ति का निराकरण।
14 नवंबर : आपत्ति के बाद सूची का प्रकाशन।
25 नवंबर को जिला द्वारा पंचायत और प्रखंड नियोजन इकाई की मेधा सूची को मंजूरी। 
29 नवंबर: मेधा सूची का अंतिम प्रकाशन। 
30 नवंबर से 7 दिसंबर : आवेदन के साथ संलग्न स्व अभिप्रमाणित प्रमाण पत्रों का मूल प्रमाण पत्र से मिलान और चयन सूची का निर्माण।
9 से 13 दिसंबर: बंटेगा नियोजन पत्र
महिलाओं काे 50 % और गरीब सवर्णों को मिलेगा 10% आरक्षण
महिला अभ्यर्थियों को 50 प्रतिशत आरक्षण मिलेगा। आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लिए 10 प्रतिशत, दिव्यांजनों को 4 प्रतिशत और स्वतंत्रता सेनानी के पोता, पोती, नाती व नतिनी को 2 प्रतिशत आरक्षण मिलेगा। एससीएसटी, पिछड़ा व अति पिछड़ा वर्ग के अभ्यर्थियों को सरकार के नियमानुसार आरक्षण मिलेगा।
नियोजन इकाइयों में हाथों-हाथ जमा करें या डाक से भेजंे आवेदन
नियोजन इकाई में आवेदन निर्धारित तिथि तक हाथों-हाथ एवं डाक या स्पीड पोस्ट द्वारा भेजे जा सकते हैं। पहले से नियोजित शिक्षक जो शिक्षक पात्रता परीक्षा उत्तीर्ण हैं और दाेबारा नियोजन के लिए आवेदन देना चाह रहे हैं, उन्हें निर्धारित पदाधिकारी से अावेदन काे अग्रसारित कराना होगा। 
30 छात्रों पर 1 शिक्षक जरूरी, अभी हैं 50 पर 1
शिक्षा का अधिकार कानून 2009 के तहत 30 छात्रों पर एक शिक्षक होना चाहिए। अभी राज्य में 50 छात्र पर एक शिक्षक हैं। राज्य में अभी प्राथमिक से लेकर माध्यमिक तक 4.40 लाख शिक्षक है। प्राथमिक स्कूलों में 3.19 लाख नियोजित और 70 हजार पुराने हैं। 

राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में पहुंचे तेजस्वी, कहा- बजट में बिहार के साथ धोखा हुआ


राजद नेता तेजस्वी यादव शनिवार को पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में शामिल होने पहुंचे। इस दौरान उन्होंने बजट में बिहार के साथ धोखा किए जाने की बात कही। 
तेजस्वी ने कहा कि बिहार से एनडीए को इतना बड़ा मैंडेट मिला था, लेकिन बजट में बिहार के साथ धोखा हुआ। बिहार को किनारे कर दिया गया। बिहार के लोगों को उम्मीद थी कि बजट में कुछ खास होगा, लेकिन ऐसा कुछ न हुआ। 
होटल मौर्या में आयोजित राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में राबड़ी देवी और मीसा भारती भी पहुंची हैं। बैठक में लोकसभा चुनाव में मिली हार और आगामी चुनौतियों पर चर्चा होगी।
स्थापना दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में नहीं गए थे तेजस्वी
शुक्रवार को राजद का 23वां स्थापना दिवस था। इस अवसर पर पार्टी की ओर से आयोजित कार्यक्रम में राबड़ी देवी और तेज प्रताप यादव तो आए, लेकिन तेजस्वी शामिल नहीं हुए। इसके चलते पार्टी के अंदर ही तेजस्वी का विरोध हुआ। रघुवंश प्रसाद सिंह और शिवानंद तिवारी ने तेजस्वी पर निशाना साधा। 
शिवानंद ने साधा था निशाना
शिवानंद तिवारी ने राजनीतिक गतिविधियों से तेजस्वी के गायब रहने पर आड़े हाथों लिया। कहा- तेजस्वी सामने आईये। लड़ना होगा। सामाजिक न्याय और सेक्युलरिज्म से ऊपर उठना होगा। 'बालाकोट' से पूरे देश का नैरेटिव बदल गया। भाजपा को वोट मिला, यह स्वीकारना होगा। सामाजिक न्याय का लाभ यादव, कुर्मी, कोईरी और वैश्य को ही मिला है। नीचे के जातियों तक नहीं पहुंच पाया। अब उनके लिए काम करना होगा। तेजस्वी को लाठी खानी होगी, जेल जाना होगा। शेर का बेटा मांद में क्यों बैठा है। 80 विधायकों के नेता हैं। पिता लालू तकलीफ में हैं। उनको तनाव मुक्त करिए। 
रघुवंश ने कसा था तंज
रघुवंश ने कहा- हमने चुनाव के पहले कहा था- इस बार बैकवर्ड-फाॅरवर्ड नहीं चलेगा। वही हुआ। हिन्दू-मुस्लिम के काट में बैकवर्ड-फाॅरवर्ड फेल हो गया। ईवीएम में कोई गड़बड़ी नहीं है। राजद का बेस वोट रह गया, सपोर्टिंग और फ्लोटिंग वोट भाग गया। भाजपा लोगों को यह समझाने में सफल हो गई कि उनका नेता नरेन्द्र मोदी देश में पिछड़ों का सबसे बड़ा नेता है।

पटना कोर्ट से राहुल गांधी को मिली जमानत, कहा था-'सभी चोरों का उपनाम मोदी क्यों है'

बिहार के डिप्टी सीएम सुशील मोदी ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के खिलाफ पटना कोर्ट में मानहानि का मुकदमा दायर किया था जिसमें राहुल गांधी को 10-10 हजार के दो मुचलकों पर जमानत मिली।
बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के खिलाफ जातिगत टिप्पणी को लेकर पटना कोर्ट में मानहानि का केस दायर किया था, जिसकी सुनवाई के दौरान राहुल गांधी कोर्ट में पेश हुए। मामले की सुनवाई के बाद जज गुंजन कुमार ने राहुल गांधी को दस हजार-दस हजार के दो निजी मुचलके पर जमानत दे दी है।
कोर्ट में पेशी के लिए राहुल गांधी आज पटना पहुंचे। राहुल गांधी के उपस्थित होने से पहले ही उनके वकील की तरफ से आत्मसमर्पण सह जमानत की अर्जी दे दी गई थी, जिसे कोर्ट ने स्वीकार कर लिया था और राहुल गांधी के सशरीर उपस्थित होने के बाद कोर्ट ने उन्हें जमानत दे दी।
कोर्ट में पेशी के बाद मीडिया से बातचीत करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि मैं अपने इस्तीफे पर कायम हूं। हिंदुस्तान की आवाज को दबाया जा रहा है। मैं पटना कोर्ट में पेशी के लिए आया था। मुझे जहां-जहां जाने की जरूरत होगी, जाऊंगा।